प्रकाशन

सांख्य

Test

सन 1933 ई. में प्रशांत चन्‍द्र महालोनोबिस ने भारतीय सांख्‍यिकी पत्रिका सांख्‍य का नींव रखा और इसे भारतीय सांख्‍यिकीय संस्‍थान प्रकाशित करती है । अपने मृत्‍युपर्यन्‍त वे सांख्‍य के संपादक थे/बने रहे । वर्तमान में सांख्‍य पत्रिका दो श्रृंखलाओं में प्रकाशित की जाती है । मोटे तौर पर श्रृंखला ए गणितीय सांख्‍यिकी एवं संभावना तथा श्रृंखला बी अनुप्रयुक्‍त और अंत: विषय सांख्‍यिकी पुरा करती है । वर्तमान अनुसंधान गतिविधियों के क्षेत्र में समीक्षाऍ और चर्चा लेख भी प्रकाशित किये जाते है । प्रत्‍येक श्रृंखला दो अंकों में प्रति खंड प्रकाशित की जाती है । श्रृंखला ए अंक फरवरी और अगस्‍त जबकि श्रृंखला बी अंक मई तथा नवम्‍बर महीने में प्रकाशित होते है ।

रवीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा एक परिचय: सांख्य

प्रशांत चंद्र महालनोबिस द्वारा प्रथम संपादकीय: सांख्य

संपादक - मंडल

 

संपर्क करें:

पता:
सांख्य
भारतीय सांख्यिकीय संस्थान,
203, बी.टी.रोड,
कोलकाता-700108
भारत

फैक्स:
91 33 2577 6035,  91 33 2577 3071

ईमेल:
sankhya_a@isical.ac.in सांख्य (प्रस्तुत करने के लिए),
sank_pub@isical.ac.in सांख्य (डाक स्वीकृति)

 

अधिक..